जीवन अनमोल है आपदा की स्थिति में जीवन सुरक्षा के लिये हम कोई कोर-कसर नहीं छोड़ें। गृह मंत्री…

Dr. Narottam Mishra ने स्टेट डिजास्टर इमरजेंसी रिस्पॉन्स फोर्स और होमगार्ड के प्रबंधन कार्यों की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आपात स्थिति में पूरा सिस्टम बेहतर तरीके से कार्य करना सुनिश्चित करें। लोगों को सही समय पर तत्परता से आवश्यक मदद मिले। आधुनिक टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग आपात स्थिति में लोगों की जान-माल की सुरक्षा में करें। इसके पूर्व उन्होंने होमगार्ड मुख्यालय में स्टेट कमांड सेन्टर का डीजी होमगार्ड श्री पवन कुमार जैन और अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा के साथ अवलोकन किया।

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा को अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने अवलोकन के दौरान सेन्टर गतिविधियों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि डिजास्टर वार्निंग एण्ड रिस्पांस सिस्टम एप के द्वारा प्रदेश में आपदा की स्थिति में जानकारी तत्परता से संकलित की जाकर बेहतर तरीके से राहत के इंतजाम किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सभी जिलों में डेम की निगरानी के लिये डेम आब्जर्वेशन पोस्ट का गठन किया गया है।

महानिदेशक होमगार्ड, नागरिक सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन सेवाएँ श्री पवन कुमार जैन ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों के आपदा संभावित क्षेत्रों की संवेदनशीलता को देखते हुए 280 डिजास्टर रिस्पांस सेन्टर का गठन किया गया है। सभी जिला होमगार्ड मुख्यालयों सहित प्रदेश में कुल 96 क्विक रिस्पांस टीम गठित की गई हैं। इसके अतिरिक्त 19 रिजर्व टीमें भी रखी गई हैं। इनमें जबलपुर और भोपाल में 5-5, इंदौर, ग्वालियर में 2-2, उज्जैन, रीवा, सागर, शहडोल और नर्मदापुरम में एक-एक रिजर्व टीम रखी गई है। सभी जिला मुख्यालयों पर इमरजेंसी आपरेशन सेन्टर स्थापित भी किये गये हैं।

बाढ़ और बचाव के लिये 276 रेस्क्यू बोट, 98 इंफ्लाटेबल रबर बोट, 231 आउट बोट मोटर 3218 लाइफ बॉय रिंग और 6130 लाइफ जैकेट का बंदोबस्त किया गया है। संभागीय एवं जिला स्तर पर ड्रोन सेवा प्रदाता एजेंसियों से ड्रोन की सेवाएँ लेने के निर्देश दिये गये हैं। बैठक में एडीजी श्री अशोक अवस्थी, श्री डी.पी. गुप्ता, डीआईजी होमगार्ड श्री देवेन्द्र विजयवत और श्रीमती ऊषा डामोर एवं अधिकारी उपस्थित थे।

राज्य स्तरीय आपदा नियंत्रण कक्ष

आपदाओं से निपटने के लिये राज्य स्तरीय आपदा नियंत्रण कक्ष में 8-8 घंटों की 3 शिफ्ट में कार्य किया जा रहा है। प्रदेश स्तर से दो टोल फ्री नंबर 𝟏𝟎𝟕𝟎 और 𝟏𝟎𝟕𝟗 जारी किये गये हैं, जिन पर आपदा की स्थिति में सूचना दी जा सकती है। इसके अतिरिक्त 𝟕𝟔𝟒𝟖𝟖𝟔𝟏𝟎𝟒𝟎, 𝟕𝟔𝟒𝟖𝟖𝟔𝟏𝟎𝟓𝟎, 𝟕𝟔𝟒𝟖𝟖𝟔𝟏𝟎𝟔𝟎 और 𝟕𝟔𝟒𝟖𝟖𝟔𝟏𝟎𝟖𝟎 पर भी सूचना दी जा सकती है।

 

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!